मुर्गी पालन व्यवसाय कैसे शुरू करें| how to start murgi farming business

दोस्तो मुर्गी पालन व्यवसाय के बारे में तो आप ने सुना ही होगा.लेकिन क्या आप जानते है की इस बिजनेस को शुरू करके कितना लाभ कमाया जा सकता है. जी हा दोस्तो मुर्गी पालन बिजनेस को बहुत ही कम लागत में शुरू करके अच्छा मुनाफा कमाया जा सकता है. लेकिन murgi farming business को शुरू करना इतना भी आसान नहीं है. इसे शुरू करने से पहले मुर्गी फार्मिंग के बारे में जानकारी होना जरूरी है. क्योंकी बिना जानकारी के इस बिजनेस को शुरू करने पर फेलियर का सामना करना पड़ सकता है.

दोस्तो यदि murgi farming business को अच्छी जानकारी या प्रशिक्षण लेकर शुरू किया जाए तो इस बिजनेस मे बहुत अच्छा मुनाफा कमाया जा सकता है.

murgi farming business hindi


क्या आप भी poultry farming बिजनेस को शुरू करना चाहते हो तो हमारे साथ अंत बने रहे है. आज हम आपको इस लेख के माध्यम से मुर्गी पालन व्यवसाय के बारे में पूरी जानकारी बताएंगे.

Contents

मुर्गी पालन व्यवसाय के लिए योजना बनाए

किसी भी व्यवसाय को शुरू करने से पहले उसकी योजना बना लेना जरूरी है. जिसमें सबसे पहले आपको यह पता करना होगा कि आप murgi farming business को बड़े स्तर पर शुरू करना चाहते हो या छोटे स्तर पर फिर उसके हिसाब से आपको जगह का सिलेक्शन करना होगा.
और यदि इसे बड़े स्तर पर शुरू कर रहे हैं तो मुर्गियों को पालने के लिए फार्म बनाने की आवश्यकता होगी. फार्म की स्थापना करने के बाद मुर्गियों का चयन करना होगा. उसके बाद उनके खाने की व्यवस्था करनी होगी. उसके बाद आपको यह भी पता होना चाहिए कि इस तरह के बिजनेस में कितनी लागत तक सकती हैं.6

यह भी पढ़े – डेयरी फार्म व्यवसाय कैसे शुरू करे

murgi farming business के लिए अनुभव या प्रशिक्षण प्राप्त करें

यदि आप इसे बड़े स्तर पर शुरू करना चाहते हो तो आपको पोल्ट्री फॉर्म की चुनौतियां एवं कठिनाइयों को समझने के लिए अनुभव या प्रशिक्षण लेने की आवश्यकता होगी.
आज के समय में कई ऐसे मुर्गी पालन व्यवसाय करने वाले व्यक्ति है जो नए उद्यमी को प्रशिक्षण प्रदान करते हैं. जिसके बदले वह नए उद्यमी से पैसे भी चार्ज करते हैं.
इसके अलावा सरकारी विभाग भी जैसे कृषि विज्ञान केंद्र एवं खादी ग्रामोद्योग भी मुर्गी पालन व्यवसाय शुरू करने वाले व्यक्ति को प्रशिक्षण प्रदान करती हैं.
और यदि आप इस बिजनेस का प्रैक्टिकल अनुभव लेना चाहते हो तो आप पहले से मुर्गी पालन व्यवसाय करने वाले व्यक्ति के यहां कुछ दिनों काम करके अनुभव ले सकते हो.

पोल्ट्री फॉर्म व्यवसाय को शुरू करने के लिए जगह का चुनाव करें

यदि आप पोल्ट्री फार्म बिजनेस को बड़े स्तर पर शुरू करना चाहते हो तो जगह की आवश्यकता होगी अन्यथा छोटे स्तर के बिजनेस को आप अपने घर से भी शुरू कर सकता हो.
poultry farming बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको निम्न बिंदुओं को ध्यान में रखना होगा.

  • जगह का चुनाव अपने बजट के हिसाब से ही करें यदि आपका बजट कम है तो आपको उस हिसाब से जगह का चुनाव करना होगा.
  • मुर्गी पालन व्यवसाय शुरू करने के लिए जगह का चुनाव शहर या सिटी से बाहर करना होगा ताकि आपके इस बिजनेस से लोगों को परेशानी ना हो.
  • जगह का चुनाव करते वक्त आपको यह देख लेना है कि वहां पानी पर्याप्त मात्रा में है या नहीं, क्योंकि इस बिजनेस में आपको पानी की अधिक आवश्यकता होगी. इसलिए जहां पर पानी की व्यवस्था हो वहीं पर जगह का चुनाव करें.
  • इसके अलावा जगह का चुनाव करते वक्त ट्रांसपोर्ट का जायजा जरूर ले. ताकि जानवरों को लाने ले जाने में आसानी हो.

मुर्गी पालन व्यवसाय के लिए फार्म स्थापित करें

जगह का चुनाव करने के बाद आपका अगला कदम मुर्गियों को पालने के लिए फार्म स्थापित करने का होना चाहिए.

फार्म तभी स्थापित करें जब आप इसे बड़े स्तर पर शुरू करना चाहते हो अन्यथा छोटे स्तर के बिजनेस को आप अपने घर से भी शुरू कर सकते हो.
फार्म को स्थापित करते वक्त आपको इस बात का ध्यान रखना है कि फार्म इस तरह से तैयार करना है की मुर्गियों को रहने में प्रॉब्लम ना आए.

यह भी पढ़े – बकरी पालन व्यवसाय कैसे करें

पोल्ट्री फॉर्म बिजनेस में मुर्गियों का चुनाव करे

फार्म को स्थापित करने के बाद आपको murgi farming business के लिए मुर्गियों की नस्ल का चुनाव करना होगा.
मुर्गियों का चुनाव करते आपको यह पता होना चाहिए कि आप इस बिजनेस को मास उत्पादन करने के लिए करना चाहते हैं या फिर अंडे उत्पादन करने के लिए.

पोल्ट्री फॉर्म के लिए चूजे कहां से खरीदें

मुर्गियों का चयन करने के बाद आपका अगला काम चूजे को खरीद कर लाने का होना चाहिए. हम आपको बता दें कि आप चूजे को अपने नजदीकी हेचरी से आसानी से खरीद सकते हो. लेकिन चूजे को खरीदते वक्त आपको इस बात का ध्यान रखना है की चूजे बीमारी से अग्रसर न हो. क्यो की यदि आपका एक भी चूजा बीमार होगा तो वह बाकी सभी चूजो को बीमार कर सकता है. इसीलिए आपको चूजे को बहुत ही सावधानीपूर्वक खरीद कर लाना होगा.

यह भी पढ़े – मोती फार्मिंग बिजनेस कैसे शुरू करे

मुर्गियों के लिए खाने का प्रबंध करें

अब आपको मुर्गियों के लिए खाने की व्यवस्था करनी होगी
दोनों प्रकार की मुर्गियों का खाना लगभग सेम होता है. लेकिन खाने की मात्र एवं समय अवधि दोनो मुर्गियों कि अलग अलग होती है. लेयर मुर्गी के खाने में कैल्शियम पर्याप्त मात्रा में होना चाहिए और इन्हें दिन में लगभग तीन से चार बार खाना खिलाने की जरुरत होती है.
और वही ब्रायलर मुर्गी के खाने में प्रोटीन की मात्रा भरपूर होनी चाहिए. यह मुर्गियां गर्मियों की बजाय सर्दियों में अधिक खाना खाती है इसीलिए इन्हे सर्दियों में अधिक खाना देने की आवश्यकता होती है. इसके अलावा इन्हे लेयर मुर्गी के मुकाबले पानी भी अधिक चाइए होता है. इसीलिए इन्हें पानी भी प्रयाप्त मात्रा में देना होता है.

आम तौर पर यह देखा गया है कि जैसे जैसे चूजों की साइज़ बढ़ती जाती है वैसे वैसे मुर्गियों के खाने की क्वालिटी एवं मात्रा दोनों में सुधार मे किया जाता है ताकि की यह एक निर्धारित समय में परिपक्व होकर आपकी कमाई का जारिया बन सके

पोल्ट्री फॉर्म व्यवसाय के लिए मार्केट रिसर्च करे

अब आपका अगला कदम अपने उत्पादन को बेचने के लिए मार्केट को ढूंढने का होना चाहिए. murgi farming business मे आपको मार्केट को ढूंढने के लिए पर्याप्त समय मिल जाता है. क्यों की चूजों को परिपक्व होने में लगभग 35 से 45 दिन का समय लगता है. इस बीच आप अपने उत्पादन को बेचने के लिए मार्केट को ढूंढ सकते हो.

जहां तक हो सके उत्पादन को बेचने के लिए ग्राहकों को नजदीकी क्षेत्र में ही ढूंढने की कोशिश करें. जिससे आपके ट्रांसपोर्ट का खर्चा बच सके और आप अधिक लाभ कमा पाए. इसके साथ ही मुर्गी और अंडे को नजदीकी क्षेत्र में सुरक्षित पहुंचाने में भी आसानी होती है.
दूर स्थित मार्केट में पहुंचाने पर अंडे के फूटने और मुर्गियों के मरने का डर बना रहता है. इसीलिए हो सके तो शुरुआत में नजदीकी से क्षेत्र में ही अपने माल को बेचने की कोशिश करें.

नजदीकी क्षेत्र के मार्केट में बेचने के लिए आपको यह देखना होगा कि उस मार्केट में इस व्यवसाई की मांग कितनी है. यदि मांग अधिक हुई तो आप आसानी से अपने उत्पादन को वही पर बेच सकते हो. लेकिन यदि उत्पादन अधिक हुआ और मांग कम है तो फिर आपको अपने उत्पाद को बेचने के लिए अन्य बाजारों में सप्लाई करना होगा.

मुर्गी पालन व्यवसाय में जरूरी उपकरण

murgi farming business को शुरू करने के लिए आपको कुछ उपकरणों की जरूरत हो सकती जो निम्नानुसार है.

  • एग्जॉस्ट फैन: जिसका उपयोग तापमान को कंट्रोल करने के लिए किया जाता है.
  • फर्श के लिए पानी की पाइप लाइन: फर्श को साफ रखने व स्वच्छता बनाए रखने के लिए इसका उपयोग किया जाता हैं.
  • थर्मामीटर: इसका उपयोग अंदर से मुर्गियों एवं कमरे के तापमान की जाच करने के लिए किया जाता है.
  • वैक्यूम क्लीनर: इसके द्वारा मुर्गियों की गंदगी एवं टूटे हुए पंखों को साफ किया जाता है.
  • स्वचालित हीटर: सर्दियों में तापमान को कंट्रोल करने के लिए इसका उपयोग किया जाता है.
  • ड्रायर: गिले कमरे को सुखाने के लिए ड्रायर का उपयोग किया जाता है.
  • यह सभी उपकरण को आसानी से आप अपने लोकल मार्केट से खरीद सकते हो.

मुर्गी पालन व्यवसाय का पंजिकरण करवाएं

पोल्ट्री फार्म बिजनेस को एमएसएमई के तहत एक कंपनी या एमएसएमई के द्वारा पंजीकरण कराना जरूरी है.
यह पंजीकरण बहुत ही आसानी से हो जाता है. लेकिन आपको उद्योग आधार का पंजीकरण कराने के लिए निम्न बातों को ध्यान रखना होगा.

  • उद्योग आधार में ऑनलाइन बहुत ही आसानी से पंजीकरण करा सकते हैं ऑनलाइन पंजीकरण करवाने के लिए आपको udyogaadhar.gov.in पर जाना होगा
  • वेबसाइट पर जाने के बाद उद्यमी को उसका आधार नंबर और उसका नाम डालना होगा और फिर वैलिडेट आधार वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है. इस पर क्लिक करने के बाद आपका आधार वैलिडेट हो जाएगा.
  • आधार वैलिडेट होने के बाद आपको कंपनी का नाम, कंपनी का प्रकार, व्यवसाय का पता, राज्य,जिला, पिन नंबर, मोबाइल नंबर, व्यवसाय की इमेल, व्यवसाय शुरू करने की तारीख, बैंक डिटेल्स, पूर्व पंजिकरण, एनआईसी कोड, कम्पनी में काम करने वाले कर्मचारियों कि संख्या,
  • व्यवसाय में लगने वाली लागत इत्यादि जानकारी डाल कर सबमिट पर क्लीक करना है.
  • एमएसएमई के तरफ से सर्टिफिकेट जेनरेट होने के बाद आपकी ईमेल पर वह सर्टिफिकेट आ जाता है. आप उस की प्रिंटआउट निकाल कर अपने पास रख सकते हो.

मुर्गी पालन व्यवसाय शुरू करने में लागत

पोल्ट्री फॉर्म बिजनेस छोटे स्तर पर शुरू करने के लिए 50 हजार से लेकर 1.5लाख रुपए की आवश्यकता हो सकती है. पोल्ट्री फार्म बिजनेस में जैसे-जैसे आपका प्रॉफिट बड़ता जाय वैसे वैसे आप murgi farming business को बड़ा सकते हो.

यदि आप पोल्ट्री फार्म बिजनेस को बड़े स्तर पर शुरू करना चाहते हो तो आपको कम से कम 3 लाख से लेकर 6 लाख रुपए की आवश्यकता होगी जिसमे अपको फार्म स्थापित करने की आवश्यकता भी होगी. और कुछ उपकरण खरीदने की आवश्यकता होगी जो हमने ऊपर बताए है.

मुर्गी पालन व्यवसाय के लिए लोन

यदि आप चाहो तो पोल्ट्री फार्म बिजनेस के लिए लोन भी ले सकते हो. सरकार murgi farming business पर सब्सिडी भी प्रदान कर रही है. इसमें एसटी/एससी कैटेगरी वाले को 35% की सब्सिडी और जनरल कैटेगरी वालो के लिए 25 % की सब्सिडी दी जा रही है.
उदाहरण के लिए मान लिया जाए की यदि आप ने 1 लाख रुपए तक के लोन के लिए अप्लाय किया है तो इसमें NABARD द्वारा एसटी/एससी वालो को 35% यानी 35000 रुपए की सब्सिडी और जनरल कैटेगरी वाले को 25 % यानी 25000 रूपए सब्सिडी दी जाती है. यह सब्सिडी आपको NABARD और एमएएमसई के द्वारा दी जाती है.

मुर्गी पालन व्यवसाय में लाभ

murgi farming business को करने से आपको बहुत सारे लाभ हो सकता है.

  • इस तरह के बिजनेस को शुरू करने के लिए सरकार बढ़ावा दे रही है. वह इस बिजनेस के लिए 0% ब्याज दर पर ऋण उपलब्ध करवा रही है.
  • यदि आप एक किसान हो तो आपको मुर्गियों को खिलाने की चिन्ता करने की कोई बात नहीं है. क्यो की पैदा हुवे अनाज के एक हिस्से और पाल वगैरा से मुर्गियों के खाने का प्रबंध हो जाता है.
  • पोल्ट्री फार्मिंग बिजनेस से कई बेरोजगार युवाओं को रोजगार मिल सकता है.
  • यह एक ऐसा बिजनेस है जिसे अच्छे तरीके से चलाया जाए तो इससे लाखों रुपए महीना भी कमाया जा सकता है.
  • भारत में पोल्ट्री फार्म बिजनेस की सभी वस्तु की खपत बहुत अधिक होती हैं इसलिए इस बिजनेस में मुनाफा भी बहुत अधिक कमाया जा सकता है.

मुर्गी पालन व्यवसाय शुरू करने के लिए कुछ टिप्स

  • यदि आप murgi farming business को बिना अनुभव के शुरू करना चाहते हो तो आपके लिए छोटे स्तर पर शुरू करना ही बेहतर रहेगा. बाद में जब आपको इस बिजनेस मे अनुभव प्राप्त होजाय तब आप इस बिजनेस को धीरे धीरे बड़ा सकते हो.
  • पोल्ट्री फार्म बिजनेस को शुरू करने से पहले आपको मार्केट रीसर्च कर लेनी है. जिस भी क्षेत्र में आप इस बिजनेस को शुरू कर रहे हो उस क्षेत्र में murgi farming business की मांग कितनी है उसके बाद मांग के हिसाब से छोटा बड़ा जिस भी स्तर पर शुरू करना चाहते हो कर सकते हो.
  • आजकल ज्यादातर लोग चिकन को सुपरमार्केट से खरीदना पसंद करते हैं. क्योंकि उसको जल्दी से भोजन बनाने के लिए उपयोग में लाया जा सकता है. इसीलिए आप भी अपने उत्पादन को खुद से पकिंग करके बेच सकते हो.
  • यदि आप चाहो तो मुर्गी पालन को शुरू करने के साथ-साथ अपना खुद का दुकान खोल कर भी आप चिकन अंडे आदि को बेच सकते हो. इसमें आप डायरेक्ट ग्राहकों से संपर्क कर सकते हैं. जिससे अपका मुनाफा भी बढ़ता है.

Leave a Comment