Dog breeding business कैसे शूरू करें | how to start Dog business in Hindi 2022

जी हां दोस्तों आज के जमाने में डॉग को पालकर भी पैसे कमाए जा सकता है. क्या आप एक ऐसे बिजनेस की तलाश में है जिसे आप अपने घर से शुरू कर सकते हो तो आपके लिए Dog breeding business बहुत ही अच्छा बिजनेस साबित हो सकता है. Dog business को गांव में रहकर भी किया जा सकता है. यहां तक कि गांव में अधिक स्पेस होने के कारण इसे अच्छे से किया जा सकता है. क्योंकि गांव में खुली जगह होने के कारण डॉग को घुमाने के लिए अच्छी जगह मिल जाती है.

क्या आप ऐसे व्यक्ति है जिसे डॉग पालने का बहुत शौक है. तो आपके लिए यह बिजनेस बहुत ही अच्छा साबित हो सकता है. जिससे आप आराम से घर बैठे अपने शौक के साथ साथ बिजनेस भी कर सकते हो. तो चलिए जानते हैं कि Dog breeding business को किस तरह शुरू किया जा सकता है.

Contents

कुत्ते पालने का व्यवसाय क्या है (what is dog breeding business)

dog business मैं अलग-अलग प्रजाति के कुत्ते को पालकर, उनकी ब्रिंडिग करवाकर उसके बच्चों को मार्केट में बेच कर पैसा कमाना ही dog farming बिजनेस कहलाता है.
डॉग फार्मिंग बिजनेस को साइड बिजनेस की तरह भी किया जा सकता है. यानी आप अपने दूसरे कामों को करते हुए भी इस बिजनेस को कर सकते हो.

Dog Breeding business kaise shuru kare

यह भी पढ़े – बकरी पालन करने का बिजनेस कैसे शुरू करे ?

कुत्ते पालन व्यवसाय के लिए उपयुक्त कुत्ते (good type in dog breeding business)

Dog breeder business शुरू करने से पहले कुत्ते की प्रजातियों के बारे में जानकारी होना आवश्यक है. क्योंकि कुत्ते भी कई अलग-अलग प्रकार की प्रजाति के होते हैं. जिनमें से कुछ विशेष प्रजाति के कुत्तों की जानकारी हम आपको बता रहे हैं. जिसको पालकर आप इस व्यापार में अच्छा मुनाफा कमा सकते हो.

जर्मन शेपर्ड (labrador) : जर्मन शेपर्ड के कुत्ते भारत में सबसे अधिक पाए जाने वाले कुत्ते है, और यह आसानी से उपलब्ध होने वाली कुत्ते की प्रजाति है. इस नस्ल के कुत्ते साहसी बुद्धिमान और हमेशा अलर्ट रहने वाले कुत्ते होते हैं. इसके अलावा इस नस्ल के कुत्ते को सुरक्षा की दृष्टि से अधिक उपयोग किया जाता है. क्योंकि इसके सुंगने की छमता अन्य कुत्तों के मुकाबले अधिक होती हैं. इस नस्ल के कुत्तों को अन्य देशों में कई अलग अलग तरह के नाम से जाना जाता हैं.

लेब्राडोर ( labrador): लेब्राडोर को भारत में लोगों द्वारा सबसे अधिक पसंद किया जाने वाली प्रजाति में से एक है. इस तरह के कुत्ते बहुत ही फ्रेंडली टाइप के होते हैं, और इन्हें बहुत ही आसानी से ट्रेन किया जा सकता है. इस तरह की प्रजाति के कुत्ते अपने आप को किसी भी वातावरण में बहुत ही आसानी से डाल लेते हैं. और इन्हें पालने के लिए अधिक पैसे खर्च करने की आवश्यकता नहीं होती है. इसलिए इस प्रजाति के कुत्ते व्यापार के लिए बहुत ही लाभकारी साबित होते हैं.

पग (pug): इस नस्ल के कुत्ते आकार में छोटे और मोटे होने के कारण बहुत ही सुंदर होते हैं. इस तरह के कुत्ते को अपार्टमेंट में रहने वाले या फिर सोसायटी में रहने वाले लोग ज्यादा पालते हैं. इसके अलावा पहली बार कुत्ते पालने वाला व्यक्ति भी इसी कुत्ते को पालता है. क्यों इस तरह के कुत्ते आदर्श नस्ल के होने के कारण इन्हें आसानी से पाला जा सकता है.

इंडियन स्पिट्ज़ ( indian spitz): इंडियन स्पिट्ज़ और पोमेरियान के बीच बहुत से लोग कन्फ्यूज हो जाते है. क्यो की यह कुछ हद तक सामान दिखते है. लेकिन यह दोनों अलग-अलग प्रजाति के कुत्ते होते हैं. पोमेरियान कुत्ते ,
इंडियन स्पिट्ज़ कुत्ते की तूलना में कद में छोटे, कम वजन वाले और लंबे होते है.

डोबरमेन ( doberman): इस प्रजाति के कुत्ते को सबसे ज्यादा आर्मी मैन और पुलिस द्वारा उपयोग किया जाता है. यह कुत्ते बहुत ही बुद्धिमान साहसी होते हैं. इसके अलावा यह कुत्ते किसी भी वातावरण में आसानी से डल जाते है. डोबरमेन प्रजाति के कुत्ते को भारतीय पालतू कुत्तो के रूप भी पसंद किया जाता है.

डालमेटियन ( dalmatian) : इस तरह के कुत्ते अपने मालिक से बहुत प्यार करते है. यह कुत्ते एथलीट टाइप के होते है. जिसे घर की रखवाली करने के लिए भी रखा जाता है. किंतु इस प्रजाति के कुत्ते गर्म मौसम मैं ही अपना जीवन यापन कर सकते हैं. ठंडी जलवायु में यह कुत्ते अपना जीवन यापन नहीं कर सकते हैं.

परियाह ( pariah) : यदि आपको कुत्ते पालने का शौक है तो आपके लिए पारियाह कुत्ता बहुत ही बेस्ट ऑप्शन है. इस तरह के कुत्ते बहुत ही आसानी से मिल जाते हैं. और कहीं जगह यह कुत्ते फ्री में भी मिल जाते हैं. इस तरह की नस्ल वाले कुत्ते में भारतीय पर्यावरण के लिए अधिक उपयुक्त है. जो कि किसी भी जलवायु में आसानी से एडजस्ट हो जाते हैं.
परियाह नस्ल वाले कुत्त भी बहुत वफादार होते है.

दच्शूंद ( Dachshund): इस कुत्ते को सर्वप्रथम छोटे जानवर जैसे खरगोश, बिल्ली जैसे जानवर का शिकार करने के लिए पाल जाता था. लेकिन आज के समय में इसे पालतू कुत्ते के रूप में उपयोग किया जाने लगा है. यह कुत्ते बहुत ही साहसी, ऊर्जावान, और हेल्दी होते है.

कुत्ता पालन बिजनेस की डिमांड ( dog farming business in demand)

आज के जमाने में भारत में अधिकतर घरों में कुत्ते पाले जाते हैं. इसके अतिरिक्त खेत खलियान बाग बगीचे में, गोडाउन मे भी और शहरों में भी कई लोग अलग-अलग जगहों पर रखवाली के लिए कुत्तों को रखते है.
इसके अलावा विभिन्न विभागों में जैसे पुलिसकर्मी, सीआईडी, स्पेशल फोर्स आदि के द्वारा भी विशेष कुत्तों का उपयोग किया जाता है. इस बात से यह तो पता चलता है कि कुत्ते की डिमांड बहुत अधिक है. यदि आप इस Dog breeding business को शुरू करते हैं तो बहुत अच्छा मुनाफा कमा सकते हो.

यह भी पढ़े – डेयरी फार्म का बिजनेस केसे शुरू करे ?

डॉग बिजनेस की रिसर्च( dog business in research)

हमारे द्वारा बताया गया है कि मार्केट में कुत्तों की डिमांड बहुत अधिक है. लेकिन फिर भी आपको अपने लेवल के क्षेत्र में एक बार रिसर्च कर लेनी चाहिए. जिससे आपको पूरी तरह यह कंफर्म हो जाएगा कि आपके क्षेत्र में कुत्तों की डिमांड है या नहीं. और यदि डिमांड है तो कितनी है
फिर आपको उसके हिसाब से डिसीजन लेना है यदि डिमांड बहुत अधिक हैं तो आप इसे बड़े लेवल पर शुरू कर सकते हो अन्यथा आप इसे छोटे स्तर पर भी शुरू कर सकते हो.

कुत्ते का बिजनेस शुरू करने के लिए प्लानिंग ( dog farming business planning)

Dog breeding business की रिसर्च करने के बाद यदि यह पता चलता है कि आपके क्षेत्र में कुत्ते की डिमांड अधिक हैं तो आप अगला कदम उठा सकते हो. यानी dog farming बिजनेस की प्लानिंग कर सकते हो.
बिजनेस की प्लानिंग करने के लिए निम्न बिंदुओं को ध्यान में रखना होगा.

  • सबसे पहले आपको जगह का चुनाव करना होगा जहां पर आप कुत्ते को आराम से पाल सको.
  • उसके बाद dog business के लिए लाइसेंस लेने की आवश्यकता होगी.
  • कुत्ते की ब्रीडिंग प्रक्रिया की जानकारी लेनी होगी और नवजात बच्चों का अच्छी तरह से रखरखाव करना होगा.
  • कुत्ते को बेचने के लिए बिजनेस की मार्केटिंग करनी होगी.
  • कुत्ते के बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको पैसे की आवश्यकता होगी.

कुत्ते पालने का व्यवसाय करने के लिए जगह ( Dog breeding business place)

कुत्ते का बिजनेस शुरू करने के लिए आपको जगह की आवश्यकता होगी. जगह का सिलेक्शन आपको खुली जगह में करना है. ताकि कुत्तों को आसानी से रखा जा सके. यदि आप बड़े स्तर पर कुत्ते का बिजनेस शुरू कर रहे हो तो. इसके लिए आप बड़ा सा फार्म भी बना सकते हो. जिसमें सभी प्रजाति के कुत्तों को रखा जा सके. किंतु अगर आप छोटे स्तर पर शुरू करना चाहते हो तो आपको अपने घर में ही ऐसी जगह देखने होगी जहां पर आप कुत्ते को पाल सको.
जहां तक हो सके तो कुत्ते को पालने के लिए खुली जगह का ही चयन करे क्योंकि कुत्ते शोर-शराबे बहुत अधिक करते हैं. जिससे आपके आसपास में रहने वाले लोग को परेशानी हो सकते है. इसलिए यदि आपके पास खुली जगह हो तो वहीं पर अपने बिजनेस के हिसाब से फार्म बनवाकर Dog breeding business शूरू करे.

कुत्ते पालन व्यवसाय शुरू करने के लिए डॉग कहां से खरीदें ( Where to buy a dog)

Dog farming को शुरू करने के लिए आपको कुत्ते की आवश्यकता होगी. कुत्ते को खरीदने के लिए आपको ऐसे व्यापारी से कांटेक्ट करना होगा जो पहले से ही कुत्ते का बिजनेस कर रहा हो. आप उससे पूरी जानकारी लेकर अलग-अलग प्रजाति के कुत्ते ख़रीद सकते हो.

कुत्ते पालन व्यवसाय के लिए ट्रेनिंग ( training in dog breeding business)

यदि आप इसे फुल टाइम करियर के रूप में लेना चाहते हो तो आपको इसके लिए ट्रेनिंग लेनी होगी. कुत्ते अलग-अलग प्रजाति के होने के कारण आपको सभी कुत्तों को संभालने में मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है. इसलिए Dog business को शुरू करने से पहले इसकी ट्रेनिंग जरूर ले. ट्रेनिंग लेने के लिए आपको ऐसे व्यापारी को ढूंढ कर, संपर्क करना होगा जो बहुत टाइम से डॉग का व्यापार करता हो. यदि आप को ऐसा व्यपारी मिल जाता है तो आप उनसे संपर्क करके अलग अलग प्रकार के कुत्तों की जानकारी ल सकते हो.

यह भी पढ़े – झाड़ू बनाने का बिजनेस केसे शुरू करे ?

नर और मादा कुत्तों के लिए ब्रीडिंग की जानकारी ( Breeding information for male and female dogs)

नर और मादा की ब्रीडिंग करवाते समय आप को कुछ बातो को ध्यान में रखना होगा जिससे जानवरों को किसी प्रकार का नुकसान न हो.

मादा कुत्तों मे ब्रीडिंग के लिए निम्न शर्ते

  • वे मादा कुत्ते जो 18 महीने की आयु को पार कर चुके हो केवल वही प्रजनन के लिए उपयुक्त है. इस से कम उम्र वाले कुत्ते से प्रजनन करवाना सही नहीं है.
  • ब्रीडिंग के 10 दिन पहले इन कुत्तों को किसी पशु चिकित्सक को दिखा देना चाहिए. ताकि यह पता चल सके कि यह कुत्ते ब्रीडिंग के लिए तेयार है या नहीं.
  • किसी भी मादा कुत्ते को साल में एक बार से अधिक प्रजनन नहीं कर सकते और किसी भी मादा कुत्ते को जीवन में केवल 5 बार ही प्रजनन कर सकते हो. इससे अधिक प्रजनन के लिए उसे बाध्य नहीं कर सकते.

नर कुत्तों की ब्रीडिंग के लिए आवश्यक शर्तें

  • नर कुत्ते को उसकी आयु के 18 महीने के बाद ही ब्रीडिंग के लिए उपयोग करे. ब्रीडिंग के लिए कुत्ते का स्ववास्थ परिपक्व होना जरूरी है.
  • ब्रीडिंग के 10 दिन पूर्व ही किसी पशु चिकित्सक से नर कुत्ते का प्रशिक्षण करवा ले. ताकि उसके स्वास्थ्य को प्रमाणित किया जा सके.

कुत्तों का व्यापार करने के लिए जरूरी लाइसेंस ( required licence in dog breeding business)

यदि आप 1 साल में तीन नस्ल के कुत्तों की ब्रीडिंग करवाते हो और उस मार्केट में बेचते हो तो उस के लिए आप को लाइसेंस लेने की आवश्यकता होगी.

  • Dog breeding business शूरू करने के लिए सबसे पहले आपको डॉग ब्रीडिंग लाइसेंस लेना होगा. जिसके लिए आपको ऑनलाइन अप्लाई करना होगा और फिर आपके यहां इन्सपैक्शन किया जाएगा. इस के बाद ही आप को यह लाइसेंस दिया जाएगा.
  • उस के बाद आप को लोकल अथॉरटी से पर्मिशन लेनी होगी.
  • इसके अलावा व्यापार का रजिस्ट्रेशन करवा कर tin नंबर लेना होगा.
  • डॉग ब्रीडिंग लाइसेंस सिर्फ 1 साल के लिए ही मान्य होता है इसे हर साल आपको रिन्यू करवाना होगा.

कुत्ता पालन व्यवसाय में लागत ( dog farming business cost)

यदि हम कुत्ता पालन व्यवसाय में लागत की बात करें तो यह आप पर डिपेंड करता है कि आप dog business को किस तरस शुरू करना चाहते हो.
यदि आप इसे बड़े स्तर पर करना चाहते हो तो आपको अधिक निवेश करने की जरूरत होगी. जिसमें सारा खर्च मिलाकर आपको तीन से चार लाख रुपए की आवश्यकता होगी.
और वही आप छोटे स्तर पर शुरू करना चाहते हो तो आप
कम खर्च यानी आप को फार्म बनाने की जरुरत नहीं होगी. छोटे स्तर के बिजनेस को घर से भी शुरू किया जा सकता है. जिसमे आप को कम से कम 50 से 60 हजार रुपए की जरूरत होगी.

कुत्ते फार्मिंग बिजनेस में जोख़िम ( risk in dog farming business)

Dog business में आप को कुछ चुनौतियां का सामना करना पड़ सकता है. जोकि निम्नानुसार है.

  • dog farming बिजनेस में सबसे बड़ी चुनौती यह है कि किसी भी मादा कुत्ते को उसके जीवन में 5 बार ही ब्रीडिंग किया जा सकता है. उस के बाद इसका पालन पोषण अपको ही करना होता है.
  • कुत्ते के स्वस्थ का जरूर ध्यान रखना होगा क्यो की अस्वस्थ कुत्ते की ब्रीडिंग संभव नहीं है.
  • इस बात का जरूर ध्यान रखना है की एक ही परिवार के कुत्तों की आपस में ब्रीडिंग नहीं करवानी है.

कुत्ते पालन व्यवसाय की मार्केटिंग ( Dog breeding business marketing)

कुत्ते की अधिक से अधिक बिक्री करने के लिए आपको मार्केटिंग करना बहुत ही जरूरी है. चलिए जानते हैं कि dog farming बिजनेस की मार्केटिंग किस तरह से की जा सकती.
किसी भी बिजनेस की मार्केटिंग करने के लिए आपको दो तरीकों को अपनाना होता है. ऑफलाइन मार्केटिंग और दूसरा है ऑनलाइन मार्केटिंग

ऑफलाइन मार्केटिंग: ऑफलाइन मार्केटिंग में आप अपने बिजनेस के नाम का पोस्टर या पेंपलेट छपवा कर अपने आसपास के क्षेत्र में बटवा सकते हो या फिर इन पोस्टर को अखबार में डालकर घर तक पहुंचा सकते हो. जिससे लोगों को पता चल जाएगा कि हमारे क्षेत्र में भी डॉग का बिजनेस किया जा रहा है यदि उन्हें डॉग चाहिए होगा तो वह आपसे जरूर संपर्क करेंगे.

ऑनलाइन मार्केटिंग: मैं आप सोशल मीडिया की सहायता से बहुत ही आसानी से Dog breeding business की मार्केटिंग कर सकते हो. जिसमें आप निम्न तरीकों को अपना सकते हो

सबसे पहला तरीका है फेसबुक जी हां दोस्तों फेसबुक के जरिए बहुत आसानी से आप मार्केटिंग के साथ-साथ बिक्री भी कर सकते हो. जिसके लिए सबसे पहले आपको एक फेसबुक पेज बनाना होगा. जिसमें आपको रेगुलर अपने डॉग से रिलेटेड पोस्ट करनी होगी. जिससे धीरे-धीरे लोग आपको जानने लगेंगे और फिर वह डॉग खरीदने के लिए आपसे संपर्क भी करेंगे.

इसी तरह आप इंस्टाग्राम पर भी पेज बनाकर अलग अलग प्रजाति के डॉग की रेगुलर पोस्ट कर सकते हो. इसके साथ ही आपको डॉग की रील्स भी बनानी होगी क्योंकि आजकल इंस्टाग्राम रिल्स को बहुत ज्यादा प्रमोट कर रहा है. यदि आप अपने डॉग की रेगुलर रिल्स बनाकर डालते हो तो धीरे-धीरे आपके फॉलोवर बढ़ने लगेंगे और एक दिन ऐसा आयेगा की इंस्टाग्राम से भी आप बहुत अच्छी सेल जनरेट कर पाओगे.

इस तरह आप dog business की ऑनलाइन या ऑफलाइन मार्केटिंग करके अपने बिजनेस की बिक्री बड़ा सकते हो.

निष्कर्ष

इस तरह आप बहुत ही आसानी से Dog breeding business को शुरू करके बहुत अच्छा मुनाफा कमा सकते हो. हम उम्मीद करते है कि हमारे द्वारा लिखा गया लेख अपको पसंद आया होगा. यदि आपके मन मे इस लेख से जुड़ा कोइ सवाल हो तो कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं.

FAQ

कुत्ता फार्मिंग बिजनेस में कितनी लागत लगेंगी ?

बड़े स्तर पर शुरू करने के लिए 2 से 3 लाख रुपए की आवश्यकता होगी.
छोटे स्तर पर शुरू करने के लिए 40 से 50 हजार रुपए की आवश्यकता होगी.

कुत्तों पालन व्यवसाय को शुरू करने के लिए कौन कौन से लाईसेंस की आवश्यकता होगी ?

सबसे पहले आप को डॉग ब्रांडिग लाईसेंस लेना होगा. इसके बाद बिजनेस का रजिस्ट्रेशन करवा कर Tin नंबर लेना होगा. इसके अलावा लोकल अथॉरटी का पर्मिशन भी लेना होगा.

कुत्ता पालन व्यवसाय कैसे शुरू करें ?

कुत्ता पालन व्यवसाय शुरू करने के आप को कुत्ते की अलग अलग प्रकार के प्रजाती कि जानकारी होनी चाहिए.
और इस बिजनेस के लिए ट्रेनिंग भी लेनी होगी. उस के बाद आप को जगह की आवश्यकता होगी. फिर लाईसेंस लेना होगा इसके बाद ही आप इस बिजनेस को शुरू कर सकते हो.

कुत्ते फार्मिंग बिजनेस में कितना मुनाफा कमाया जा सकता है ?

इस बिजनेस मे आप एक कुत्ते को बेच कर 5 से 10 हजार रुपए का मुनाफा कमा सकते हो.

Leave a Comment