Business Loan Schemes For Women 2022: स्टार्टअप बिजनेस में महिलाओं के लिए वरदान है ये 5 लोन स्कीम्स

वो बातें अब पुरानी हो चली हैं, जब महिलाओं की पहचान सिर्फ एक गृहणी के तौर पर हुआ करती थी. आज महिलाएं आंत्रप्रेन्योर के रूप में भी खुद को स्थापित कर चुकी हैं. कम इनवेस्टमेंट वाले ऐसे कई बिजनेस (Small Investment Business for Women) हैं, जिनकी शुरुआत कर महिलाएं उद्यमिता के क्षेत्र में अपने अस्तित्व का परचम लहरा रही हैं.

Business Loan Schemes For Women

कुछ हुनरमंद महिलाएं ऐसी भी हैं, जो छोटे व्यवसाय (Best Home Based Business for Women) की शुरुआत अपने घर पर ही कर रही है और अपनी मेहनत और लगन के दम पर उस व्यवसाय से रोजगार के अवसर भी उत्पन्न कर रही हैं. लेकिन किसी भी व्यपार को शुरू करने से पहले पैसे की जरूरत होती है. अगर आपका व्यवसायिक विचार भी केवल बजट की वजह से ही आगे नहीं बढ़ पा रहा है तो इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपकी यह परेशानी को दूर करने वाले हैं. आज हम आपको महिलाओं के लिए उपलब्ध लोन स्कीम्स ( Business loan schemes Women ) के बारे में बताएंगे, जिनका लाभ आप अपने स्टार्टअप को शुरू करने के लिए उठा सकते हैं.

1. अन्नपूर्णा योजना (Annpurna Yojana)

इस योजना के माध्यम से आप अपने हुनर को ही अपने व्यापार का रूप दे सकती हैं. अगर आप स्वादिष्ठ खाना बनाने की कला रखती हैं तो आपका यही हुनर आपके स्टार्टअप का माध्यम बन सकता है. आपका विचार अगर फूड केटरिंग बिजनेस का है तो अन्नपूर्णा योजना के जरिए 50 हजार तक का लोन लेकर इस व्यसाय को शुरू किया जा सकता है. इस लोन की समयावधि तीन साल के लिए होती है. लोन की प्राप्ति के लिए आपके पास एक गारंटर और कोलेट्रल सिक्योरिटी की आवश्यकता होती है. लोन की ब्याज दरें मार्केट रेट के आधार पर ही होती हैं, लेकिन कम बजट के बिजनेस (Low Budget Business for Ladies) को इस लोन के माध्यम से शुरू किया जा सकता है.

2. महिला उद्यमी निधि योजना (Mahila Udhmi Nidhi Yojana)

आपके स्मॉल बिजनेस आइडियाज  को महिला उद्यमी निधि योजना की आर्थिक मदद मिल सकती है. यह योजना भी महिलाओं को स्टार्टअप बिजनेस की नींव ड़ालने में सबसे ज्यादा सहायता प्रदान करती है. इस योजना में पंजाब नेशनल बैंक द्वारा लोन दिया जाता है. इसमें 10 लाख रुपये तक का लोन उपलब्ध कराया जाता है. जिसकी समय सीमा 10 साल की होती है. ब्याज दरें भी मार्केट रेट के आधार पर ही होती हैं, जो समय-समय पर बदलती भी रहती है. इस योजना से फंड जुटाकर आप किसी बेहतरीन बिजनेस की शुरुआत कर सकती हैं.

3. सेंट कल्याणी योजना (Cent Kalyani Scheme)

ग्रामीण इलाकों की महिला उद्यमियों को आसानी से लोन स्कीम का फायदा मिल सके, इस बात का भी खास ध्यान रखा गया है. सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की सेंट कल्याणी योजना के माध्यम से ग्रामीण तबके की महिलाएं भी बड़ी ही आसानी से लोन पा सकती है. सेंट कल्याणी योजना के माध्यम से छोटे व्यवसायों की शुरुआती की जा सकती है. इसमें महिलाएं, जितनी राशि चाहे उतनी ही राशि आसान ब्याज दरों पर उठा सकती है. इस लोन का उपयोग मैन्यूफैक्चरिंग बिजनेस में अधिक किया जाता है.

4.  देना शक्ति योजना (Dena Shakti Yojana)

देना बैंक की ओर से देना शक्ति योजना का लाभ महिला उद्यमियों को दिया जाता है. यह योजना भी महिलाओं के लिए वरदान की तरह है. इस योजना के तहत भी महिलाएं लोन पाकर अपने स्टार्टअप बिजनेस की शुरुआत कर सकती हैं. देना शक्ति योजना में 20 लाख तक की राशि महिलाओं को उपलब्ध करायी जाती है. इस योजना के अंतर्गत मिलने वाली लोन की राशि पर 0.25% की ब्याज दरों में छूट भी दी जाती हैं.

5. उद्योगिनी योजना (Udhyogini Yojana)

इस योजना के नाम से ही इस योजना की प्राथमिकता का अंदाजा लगाया जा सकता है. उद्योगिनी योजना गांव में रहने वाली ऐसी महिलाओं को अपने पैरों पर खड़े होने में मदद करती हैं, जो पढ़ना-लिखना नहीं जानती हैं, लेकिन व्यापार करना चाहती हैं. जिनके पास अच्छा बिजनेस आइडिया है और उस पर काम करना चाहती हैं. इस योजना के तहत महिलाओं को तीन लाख रुपयों की राशि उपलब्ध करायी जाती है. ब्याज दरें सामान्य ही होती है और कुछ मामलों में छूट भी होती है. इस लोन को पाने के लिए किसी भी प्रकार की सिक्योरिटी या गारंटी की भी आवश्यकता नहीं होती है. इस योजना का लाभ पंजाब और सिंध बैंक से उठाया जा सकता है.

महिला व्यापारियों को विकसित करने और उन्हें आगे बढ़ाने के लिए इन योजनाओं की शुरुआत की गई हैं. जिनका फायदा उठाकर महिला उद्यमी अपने स्टार्टअप बिजनेस का आरंभ भी कर सकती है और उसे सफलता भी दिला सकती हैं. आपको बस किसी भी स्कीम का लाभ लेने से पहले उसके बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त करनी होगी. लोन स्कीम के बारे में पहले जान लेना ही सबसे बेहतर होता है.

लेख के बारे में आप अपनी टिप्पणी को कमेंट सेक्शन में कमेंट करके दर्ज करा सकते हैं. इसके अलावा आप अगर एक व्यापारी हैं और अपने व्यापार में किन्ही जटिल और मुश्किल परेशानियों का सामना कर रहे हैं तो आप Problem Solving Course के माध्यम से उन्हें दूर कर सकते हैं और अपने कारोबार को परेशानीमुक्त कारोबार बना सकते हैं.

Leave a Comment